वॉकी टॉकी क्या होता है? What is Walkie Talkie in Hindi?

आज मैं आपको बताने वाला हु की वॉकी टॉकी क्या होता है, What is Walkie Talkie in
Hindi. दोस्तों आपने अक्सर कई फिल्मो में देखा होगा की पुलिस वाले या फिर हमारे वीर जवान बात
करने के लिए वॉकी टॉकी का इस्तेमाल करते है, लेकिन आप ये सोचते है की आखिर ये होता क्या है
और बिना नेटवर्क के इसमें बात कैसे हो जाती है?

Wifi Calling क्या है? किसी को कॉल कैसे करें?

रिफ्रेश रेट क्या होता हैं | मोबाइल में रिफ्रेश रेट क्या होता हैं?

आम तौर पर ये device पुलिस या फिर ट्रैफिक पुलिस के हाथ में दिखाई देता है क्यूंकि उन्हें अन्य
पुलिस कर्मियों के साथ 24 घंटे जुड़े रहना पड़ता है, तो आखिर इससे फ़ोन कैसे लगता है? आज की इस
पोस्ट में आपको ये सब बहुत सरल तरीके से जानने को मिलेगा. वॉकी टॉकी क्या होता है?

Walkie Talkie क्या है?

वॉकी टॉकी क्या होता है

यह एक Radio Transmitor है जिससे मैसेज भेजे और Receive किए जाते है, यह बैटरी कि मदद से चलता है इसको आसानी से कहीं भी ले जा सकते है। अगर दूसरे शब्दों में कहें तो यह एक small Radio hai जो मेसेज भेजने और Receive करने के काम आता है।

Walkie Talkie Motorola कंपनी द्वारा बनाया गया एक radio Transmitor device हैं, जिसमे Push to talk button, speaker, antina और display लगा होता है

आज के आधुनिक युग में जहां एक से बढ़कर एक technology उपलब्ध है लेकिन इसके बावजूद
भी पुलिस और जवान Communication करने के लिए फोन का इस्तेमाल नहीं करते वह इसलिए क्यूंकि फोन network connection से चलता
है अगर network नहीं होंगे तो बात भी नहीं होगी।

लेकिन Walkie Talkie में एंटीना लगा होता है जो frequency range में work करके self network generate करता है।

Walkie Talkie का इतिहास?

Walkie Talkie को सन 1940 में Alfred Gross, Dan Nobel, Heneryk magnuski, Marion bond, Lloyd Morris, Bill Vogel की मदद
से motorola ने बनाया था।

Walkie Talkie एक तरह से Radio बैग था जिसका इस्तेमाल world वार II में हुआ था, इसे
एक व्यक्ति अपने कंधो पर टांगता था और दूसरा व्यक्ति बात करता था। फिर जैसे जैसे technology में विकास होता गया इसका आकार
भी छोटा होता गया, पहले इसका नाम पैकेट्सेट था फिर 1941 में Walkie Talkie कर दिया।

Analog Signal – Walkie Talkie का use Portable radio Communication के लिए बहुत जगहों पर जैसे public safety, military
आदि जगहों पर होने लगा।

इस waterproof Walkie Talkie को इस प्रकार डिजाइन किया गया था कि इसका use मरीन (Marine VHF) और aviation
Communication मतलब हवाई सेवा जैसे aeroplane service में इस्तेमाल किया जा सके। इस radio को एक fix frequency पर
सेट कर देते है ताकि emergency के दौरान अपनी जानकारी जल्द से जल्द receive station या कंट्रोल स्टेशन पर पहुंचा सके।

Walkie Talkie कैसे काम करता है?

वॉकी टॉकी क्या होता है

Walkie Talkie में antina signal, push to talk button, frequency आदि होते है, इसमें हम एक fix frequency पर चैनल सेट कर देते है और antina signal को उपर खींचकर सिग्नल generate करते है,

जैसे ही कोई उस frequency की range में आता है channel से मतलब हमारे Walkie Talkie se connect हो जाता है और फिर हम push to talk button से एक दूसरे से संपर्क बना सकते है।

जैसे हम पुराने जमाने के रेडियो कि बात करे तो उसमे कुछ frequency होती थी, जैसे ही हम बटन को घुमाते है तो पहले से fix frequency वाले Radio station से हम कनेक्ट हो जाते थे जैसे 92.7, 93.5, 97.8, 101 विविध भारती आदि।

Walkie Talkie एक हाथ में लिया जाने वाला hand held radio हैं, जिससे हम communicate करते है दूसरे Walkie Talkie base station, Mobile station, repeaters से।

Base Station

इसमें radio और Walkie Talkie की location fix होती है जिससे दूसरे base station से Communication कर पाते हैं।

Mobile Station

Radio और Walkie Talkie आपने आम तौर पर पुलिस कि गाडियों में देखा होगा अगर किसी criminal को पकड़ना होता है तो एक fix frequency पर एक channel से कनेक्ट होकर एक दूसरे के संपर्क में बने रहते है।

Mobile Station इसमें Walkie Talkie और रेडियो स्टेशन जैसे marine, road vehicle car, aeroplane आदि में लगे होते है जैसे ही push to talk का बटन दबाते है वह दूसरे रेडियो स्टेशन पर अपनी बात पहुंचा सकता है।

Repeater

यह एक ऐसा fixed station होता है जहां पर remote के द्वारा रेडियो सिस्टम को ऑपरेट किया जाता है। कई बार Walkie Talkie उस fix frequency से कनेक्ट नहीं हो पाते क्यूंकि distance ज्यादा होती है जैसे सियाचीन पर हमारे जवान तैनात रहते है तो दूरी और उची चोटी होने के कारण connect नहीं कर पाते है।

तो इसमें एक fixed location पर बहुत ऊंचा tower बनाकर signal को transmit किया
जाता है, जिसकी माध्यम से हम उस signal की range में आकर कनेक्ट हो जाते है।

Walkie Talkie कहां use होता है?

वैसे तो Walkie Talkie का इतना अहम योगदान होने के वावजूद भी आप चाहे तो personal use, या public safety के लिए इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते अगर आपको इस्तेमाल करना है तो सरकार से permission लेनी पड़ती है।

जिसे आपको CBRS (Citizen Band Radio Service) से लेनी पड़ती है यह आपको एक fix
frequency देते है CBRS के अन्तर्गत आपको 40 चैनल मिलते है जिसकी starting frequency
(26.960 से 27.4MHZ) के बीच होती है।

लाइसेंस based service के लिए government की authority की जरूरत होती है, government ने यह जिम्मेदारी ARS ( Amateur Radio Service) को दी है।

आइए अब इन्हें detail में समझते है।

1. CBRS

इस CBRS (Citizen Band Radio Service) का इस्तेमाल हम प्राइवेट, two-way या कम दूरी के अंदर voice communication services का इस्तेमाल करने के लिए इसका use किया जाता है।

2. MURS

इस MURS (Multi use Radio Service) का use bhi कम दूरी में communicate करने के लिए किया
जाता है। यह एक portable hand Radio में आपको service मिलती है, जिसका काम Walkie Talkie की तरह होता है।

3. FRS

FRS (FAMILY RADIO SERVICE) यह एक प्राइवेट two-way और group activity की facility को प्रदान करता है। इस सर्विस में Encryption होता है कोई भी तीसरा व्यक्ति दो लोगो की बात इसमें नहीं सन सकता।

जो other Walkie Talkie होते है जिसमे एक लीडर पूरे ग्रुप को को control करता है, एक fix frequency पर एक channel Create करते है और सभी के Walkie Talkie उससे connect हो जाते है। जिसका फायदा यह होता है कि लीडर एक बार में ही सारे member को आदेश दे देता है।

4. GMRS :-

इसे General Mobile Radio Service कहते है।
यह भी two-way communication को short distance में communicate करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

LICENSED SERVICE

5. MMS

इसको maritime mobile service कहते है। इसे maritime mobile service international Radio Service प्रदान करती है। समुद्री जगहों पर इसके लिए बोट या मरीन का ड्राइवर जो Walkie Talkie का इस्तेमाल करता है उसमे MMS service होती है, साथ ही इसमें Encryption भी होती है।

6. ARS

इसका Full Form “Aviation Radio Service”
होता है इसको भी international Radio Service आपको प्रदान करती है। ये खासतौर पर पायलट के लिए
होती है aeroplane मे उनका Walkie Talkie रहता है जिसमे ARS की service होती है।

यह सभी international हवाई अड्डों कि frequency से जुड़ा होता है, जब भी कोई Aeroplane take-off करता है तो उसके co-pilot को अपने Walkie Talkie से उस अड्डे पर सूचना देनी होती है यह service भी encryption प्रदान करती है।

निष्कर्ष?

दोस्तो आप आपने सीखा कि वॉकी टॉकी क्या होता है, What is Walkie Talkie in Hindi. और Walkie Talkie कैसे काम करता है।

मुझे लगता है आज कि हमारी कि Walkie Talkie पोस्ट से आपको सारी जानकारी मिल गई होगी, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो आप इसमें अपने दोस्तों को भी शेयर कर सकते है।

अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो आप बेझिझक हमसे कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते है, हम
पूरी कोशिश करते है कि आपको एक ही पोस्ट में सारे सवालों के जवाब मिल जाए।

आखिर में यही कहना चाहूंगा कि अंत तक पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

यह भी पढ़िए-

सुहास ललीनाकेरे यथिराज का जीवन परिचय | Suhas Lalinakere Yathiraj Biography in Hindi

Computer Virus क्या होता है ? वायरस से कैसे बचे?

School Full Form In Hindi | स्कूल फुल फॉर्म इन हिंदी?

G7 Summit kya hai | G7 me kitne desh hain?

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)

Sharing Is Love:

1 thought on “वॉकी टॉकी क्या होता है? What is Walkie Talkie in Hindi?”

Leave a Comment