Mutual Funds क्या है. और इसमें invest कैसे करें.

दोस्तों Mutual Funds का नाम सुनते ही हमारे मन में बहुत से सवाल उठने लगते है, समझ में नही आता
कहा invest करे और इसके बारे में किससे सलाह ले ताकि हमें ज्यादा लाभ हो, लेकिन आपको एक आम
आदमी होने के नाते या आपने कोई नया बिसनेस शुरू किया है तो आपको Mutual Funds क्या है और
mutual funds में invest कैसे करते है ये पता होना चाहिए.

सभी लोग यही सोचते है की वो अपना पैसा किसी ऐसी जगह इन्वेस्ट करें की उन्हें अच्छा लाभ हो, लेकिन
बहुत से लोगो को ये पता ही नही की invest कहाँ करना चाहिए. इसलिए वो अपना पैसा सेविंग अकाउंट में
रख देते है जहाँ उन्हें 4-6% तक का ब्याज मिलता है लेकिन आपको बता दें की, बैंक में पैसा लम्बे
समय तक रखने से उसकी value मार्किट में कम होती जाती है महंगाई की वजह से, तो बैंक में पैसा
रखना सुरक्षित तो है लेकिन इसमें आपका नुकसान है. Fixed Deposit (FD) अच्छा तरीका है जिन्हें बिलकुल भी रिस्क नही
लेना है और सिर्फ लाभ चाहिए, इसमें आपको 8% तक का ब्याज मिल जाता है

Internet को किसने बनाया ? इन्टरनेट कब बना ?

अब बहुत से लोग प्रोपर्टी में पैसा invest करते है लेकिन इसमें आपको शुरुवात में बहुत ज्यादा पैसे लगते है
जो हर कोई नही कर पता. बहुत से लोग virtual करेंसी जैसे BitCoin और बहुत से लोग Jewelley में
भी invest करते है ताकि उन्हें हाई रिटर्न मिल सके. इसके बाद आता है stock Market इसमें सिर्फ
कुछ ही लोग invest करते है क्यूंकि invest कैसे करते है पता ही नही होता और एक कारण ये भी है
की इसमें एक साथ बहुत ज्यादा प्रॉफिट या एक साथ बहुत ज्यादा नुकसान होता है इसलिए बहुत से लोग इससे दूर रहते है.

Mutual Funds क्या है:-

Mutual Funds एक इन्वेस्टमेंट का नाम है जिसे Asset Management Company (AMC) चलाती है,
अगर मैं आपको सरल भाषा में समझाऊ तो Mutual Funds एक ऐसी संस्था है, जहाँ लोग पैसा इन्वेस्ट करते है और
फिर उस पैसे को एसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC) stock market में या किसी दूसरी कंपनी में इन्वेस्ट करती है,
यहाँ Mutual Funds कंपनी को जितना भी फायदा होता है वह 1-2% सर्विस चार्ज काटने के बाद ग्राहकों को दे देती है.

आपको बता दें की mutual funds में आपको रिस्क का खतरा बहुत कम होता है, क्यूंकि इसमें बहुत बड़े बड़े
एक्सपर्ट है जो आपका पैसा बहुत सोच समझकर लगते है और आपके पैसे को बहुत सारी कंपनी में इन्वेस्ट करते है
जिससे आपको नुकसान होने का चांस बहुत कम हो जाता है. इसमें आपको फायदा तो होता ही है लेकिन कभी कभी
नुकसान भी झेलना पड़ता है, लेकिन अगर लम्बे समय तक इन्वेस्ट करने आये है तो आपको इससे बहुत फयदा होगा.

अब इनमे भी बहुत प्रकार के Mutual Funds होते है किसी में बहुत कम रिस्क होता है तो किसी में बहुत
ज्यादा रिस्क होता है, ये सब डिपेंड करता है एसेट मैनेजमेंट कंपनी पर ये आपके पैसे को कहा इन्वेस्ट कर
रही है, अगर शेयर मार्किट होगा तो रिस्क बहुत ज्यादा होगा और अगर सरकारी कामो में इन्वेस्ट करेगी तो
रिस्क बहुत कम होगा.

नोट – कभी भी पूरा पैसा एक जगह इन्वेस्ट का करें अगर किसी वजह से उस कंपनी/बैंक में कुछ प्रॉब्लम
होती है तो आपका पूरा पैसा डूब जाएगा, और इससे आपको नुकसान बहुत ज्यादा होगा.

Mutual Funds कितने प्रकार के होते है:-

वैसे तो बहुत प्रकार के Mutual Funds होते है लेकिन ये 3 सबसे ज्यदा मुख्य है.
1. Equity (इक्विटी)
2. Debt (डेब्ट)
3. Hybrid (हाइब्रिड )

Equity Mutual Funds

Equity Mutual Funds वो होते है जिनमे आपका पैसा stock market में इन्वेस्ट किया जाता है
तो जाहिर सी बात है इस केटेगरी के Mutual Funds में ज्यादा रिस्क और ज्यादा रिटर्न होगा. अब इसमें
भी कुछ केटेगरी होती है जो आपको पता होना चाहिए.

1. Large/Mid Cap Equity Fund (लार्ज/मिड कैप इक्विटी फण्ड)

अगर बड़ी कंपनी में इन्वेस्ट कर रहे हो तो उसको बोला जाता है “Large cap Equity Funds” और
अगर छोटी कंपनी में कर रहे हो तो उसको Mid Cap Equity Funds कहा जाता है.

2. Diversified Equity Fund (डाइवर्सिफाइड इक्विटी फण्ड)

इसमें Large cap, Mid Cap सबमे थोड़ी – थोड़ी इन्वेस्टमेंट की जाती है, अलग अलग कंपनी में
थोड़ी थोड़ी इन्वेस्टमेंट की जाती है.

3. Equity Linked saving Scheme ( इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम)

ये एक स्पेशल टाइप का Fund है इसमें आप अपना टेक्स बचा सकते हो, इससे जो भी फायदा होगा
उस पर टेक्स बचा सकते हो.

4. Sector Mutual Fund (सेक्टर Mutual Fund)

इसमें पूरे एक सेक्टर में इन्वेस्ट किया जाता है जैसे ट्रांसपोर्ट, लेकिन इसमें रिस्क बहुत ज्यादा होता है
क्यूंकि अगर उस सेक्टर में नुक्सान हुआ तो आपका पूरा पैसा डूब जायेगा लेकिन अगर प्रॉफिट हुआ
तो बहुत ज्यादा होगा.

5. Index Funds (इंडेक्स फंड्स)

इसमें बड़ी बात है की इसको कोई एसेट मैनेजमेंट एजेंट नही देखता की आप कहा इन्वेस्ट कर रहे हो,
जैसे जैसे NIFTY/SENSEX ऊपर निचे जाता है इनकी वैल्यू भी जाती है तो आप इसमें भी इन्वेस्ट का सकते हो.

Debt Mutual Fund:-

इसमें debt instruments पर इन्वेस्ट किया जाता है जैसे BONDS, अब Bond का मतलब है
की जब सरकार को पैसे की जरूरत होती है और उसको बजट से नही मिल रहे होते है तो सरकार लोगो
से पैसे उधार मांगती है कुछ फ़िक्स समय के लिए, फिर सरकार उस ब्याज के साथ आपका पैसा लौटा देती है,
आपको खुद पता है की अगर पैसा सरकार के पास जा रहा है तो उसमे रिस्क बहुत कम होता है और रिटर्न
भी सही मिल जाता है. Debt Mutual Fund की भी कुछ केटेगरी होती है

Mutual Funds क्या है

1. Liquid Funds (लिक्विड फंड्स)

इकॉनमी में Liquid का मतलब है जिसे आसानी से cash में बदला जा सके, तो इस फंड्स को 1-2
दिनों में बड़े ही आसानी से Cash में बदला जा सकता है और इसमें बहुत ही कम रिस्क होता है,
जैसा सेविंग अकाउंट में होता है ये भी बिलकुल उसके जेसा है.

2. Gilt Funds (गिल्ट फंड्स)

इसमें सरकार Bonds में इन्वेस्ट करती है, अगर सरकार इन्वेस्ट करती है तो इसमें एक दम जीरो रिस्क है
क्यूंकि ऐसा कभी नही होता की सरकार आपका पैसा न लौटाए ज्यादा से ज्यादा ब्याज ऊपर निचे हो सकता है.

3. Fixed Maturity Plan (फिक्स्ड मचुरिटी प्लान)

जैसे आप बैंक में FD(Fixed deposit) करवाते हो एक फिक्स टाइम के लिए ये भी बिलकुल वैसे
ही होते है. इसका टाइम होने के बाद ही आप इसके पैसे निकाल सकते हो उसके बीच में ऐसे नही निकाल सकते.

तो ये कुछ टाइप थे Debt Mutual Fund के, इसमें आगे बहुत सारे टाइप होते है लेकिन ये सबसे ज्यादा मुख्य थे.

Hybrid Mutual Fund:-

ये मिक्सचर होते है Debt और Equity Mutual Fund का. क्यूंकि कुछ लोग चाहते है की सारे
पैसे stock market में इन्वेस्ट नही करे कुछ पैसे Debt instruments में भी इन्वेस्ट कर देते है
तो ये उनके लिए ही होता है. अगर ज्यादर पैसे Debt instruments में इन्वेस्ट है तो उसे हम कहेंगे
Balanced Savings Funds(Equity Funds) इसका रेश्यो रहता है 70:30 का, इसका
मतलब की 70% पैसे आपके लो रिस्क पर है Debt instruments में है और 30% पैसे
Equity Mutual Fund में रहते है. अगर इसका उल्टा होता है 30:70 का रेश्यो होता है तो उसे हम
Balanced Advantage funds(Hybrid Aggressive) कहेंगे.

इसमें आगे भी बहुत सारे टाइप होते है लेकिन वो ज्यादा जरुरी नही है ये कुछ मुख्य थे जो मैंने आपको बता दिए.

क्या Mutual Funds में इन्वेस्ट करना चाहिए ?

दोस्तों भले ही अब आपको पता चल हो की Mutual Fund क्या है और कैसे इन्वेस्ट करना चाहिए
लेकिन जिसने आज तक इन्वेस्ट नही किया है उसको डर लगता ही है. यहाँ मैं आपको बता दू की ये
100% सुरक्षित है क्यूंकि इसको Securities and Exchange Board of India (SEBI)
रेगुलेट करती है इसलिए अब इसमें कोई भी दूसरा व्यक्ति आपके पैसे के साथ कुछ नही कर सकता.

Conclusion:-

मुझे लगता है अब मैंने आपको बहुत बता दिया की Mutual Fund क्या है और कहा इन्वेस्ट करना चाहिए,
ये आपके लिए नया था इसलिए सिखने में वक़्त लग सकता है लेकिन बिना सीखे ऐसे ही पैसे मत लगाना.
दोस्तों अगर आपका कुछ सवाल या सुझाव है तो निचे कमेंट कर सकते है, और ये टॉपिक बहुत जरुरी है
क्यूंकि बहुत से लोग बिना जाने ही पैसा लगा देते है और पूरा पैसा डूब जाता है इसलिए सभी दोस्तों को ये
आर्टिकल भेजो ताकि उन्हें भी पता चले की Mutual Fund क्या है.
पूरी पोस्ट पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद…

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)