Tauktae Cyclone kya Hai | ताऊते तूफान इन हिंदी।

दोस्तों तकरीबन हर साल मई और जून के महीने में क्लाइमेट में बदलाव होता है और तूफान आने के
संकेत होते है इस बार यह तूफान चर्चा में इसलिए आ रहा है क्योंकि हमारे भारत देश में कोरोना से
हालत सामान्य नहीं हुए है और इसी के हाथ एक नए तूफान ने दस्तक दे दी है। आज आपको
Tauktae Cyclone kya Hai|ताऊते तूफान इन हिंदी। जरूर पढ़ना चाहिए।

इस बार यह तूफान पहले के तूफानों से थोड़ा अलग बताया जा रहा है क्योंकि इसकी शुरुवात म्यांमार से
हुई है तथा इसका नाम के पीछे भी एक कहानी है को आपको आज जरूर जानना चाहिए।

Tauktae (तूफान) क्या है?

इस बार यह तूफान अपनी नाम की वजह से ज्यादा चर्चा में आया है क्योंकि इसका नाम थोड़ा अजीब है चाहिए आपको बताते है की इसका नाम ताऊते तूफान क्यों पड़ा – इस तूफान का नाम म्यांमार से आया है दरअसल म्यांमार में छिपकली को “ताऊते” कहते है और छिपकली एक दम दवे कदमों से अपने दुश्मन को मारती है और उसे खा जाती है इसलिए इस तूफान का नाम ताऊते तूफान रखा गया।

चाहे यह तूफान हो या फिर कोई और इससे हमेशा समुंद्र के किनारे रहने वालों लोगों को ही समस्या होती है और इस बार भी यही हुआ, इस तूफान ने समुंद्र के किराने रहने वालों लोगों से उनका घर छीन लिया और कई लोगो को तो मौत भी हो गई है।

ताऊते तूफान कैसे बना?

मौसम विभाग का कहना है की अरेबियन सी में तापमान ज्यादा बढ़ने की वजह से समुंद्र में लो प्रेशर
एरिया बन गया है और इसी ने एक साइक्लोन का रूप ले लिया है। धीरे धीरे यह तूफान भारत तक आ
गया है और समुद्री इलाकों में रहने वाले लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

अगर आपने ध्यान दिया होगा तो पाएंगे की ऐसे तूफान पहले के समय में बहुत कम आते थे लेकिन
अब तो हर साल ही आते है इसी सबसे मुख्य वजह यह है की आज मानव बड़ी बड़ी इमारतें बना रहा
है और रोज हजारों पेड़ों को काटता जा रहा है जिससे मौसम और क्लाइमेट पर बहुत बुरा असर
पड़ रहा है।

ताऊते तूफान अब तक कहां कहां पहुंच चुका है?

अब तक यह ताऊते तूफान भारत के कई राज्यों में घुस चुका है और तबाही मचा रहा हैं समय के
साथ तूफान कम जरूर होता है लेकिन जब तक इससे कई लोगो को मौत हो जाती है इसलिए मौसम विभाग
ने समुद्री इलाके के पास और पूरे देश को आग्रह किया है और घर में ही रहने के लिए कहा है।

1. यह तूफान गोवा में दस्तक दे चुका है जिसकी
वजह से वहां के लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है और लगभग 300 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचा है। किसी भी तूफान में सबसे ज्यादा दिक्कत का सामना ग़रीब लोगों को करना पड़ता है क्योंकि उनके घरों को काफी नुकसान पहुंचता है।

2. इस तूफान ने कर्नाटक के कई इलाकों में तबाही
मचाई है और कई लोगों की जान भी ली है और इसके बाद भारत के कई राज्यों में पहुंच गया
है।

ताऊते तूफान से सावधान कैसे रहे?

सरकार ने सभी राज्यों के लोगों को इस वक्त ज्यादा सावधानी बरतने को कहा है क्योंकि इससे जान जाने का खतरा है इसलिए राज्य सरकार ने भी अस्पतालों में किसी भी विपदा से निपटने के कड़े निर्देश दिए है।

निष्कर्ष

दोस्तों इस पोस्ट में मैने आपको बताया कि Tauktae Cyclone kya Hai|ताऊते
तूफान इन हिंदी।
उम्मीद है आपको मेरी आज की पोस्ट से जरूर कुछ सीखने को मिला होगा। अगर
आपको यह लेख पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों को भी भेज सकते है।

ताऊते तूफान हो या कोरोना आपको जरूरत तो इस बात की है की आप अपने घरों में रहे क्योंकि अभी
इससे जरूर कुछ भी नहीं है अगर आपको ब्लैक फंगस और रेमडेसिवीर के बारे में सही जानकारी
चाहिए तो आप नीचे लिखे पोस्ट पर क्लिक करके उसे पढ़ सकते है।

ब्लैक फंगस क्या है? ब्लैक फंगस कैसे होता है?

असली और नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की पहचान कैसे करें?

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)

Sharing Is Love:

Leave a Comment