Internet कैसे काम करता है ? इन्टरनेट का मालिक कौन है ?

दोस्तों अब हम 3 घंटे बिना खाने के भी रह सकते है और बिना पानी के भी लेकिन 30 मिनट बिना
internet के रहना बहुत मुश्किल है. हम चाहे कहीं भी जाए लेकिन अपना फ़ोन ले जाना कभी नही भूलते यही
कारण है की हमारे india में इन्टरनेट चलाने वालो की संख्या बहुत तेज़ी से बढ़ रही है और 56 करोड़
तक पहुच चुकी है, चीन के बाद हम दुसरे नंबर पर आते है दुनिया में इन्टरनेट चलाने में. लेकिन क्या
आपको ये पता है की internet क्या है, internet कैसे काम करता है.

हमें जिस भी सवाल का जबाब चाहिए आज वो बहुत आसानी से मिल जाता है. आज हम इन्टरनेट को कभी
से भी प्राप्त कर सकते है चाहे आप घर के अंदर हो या किसी गाँव में, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा की
आप तक इन्टरनेट कैसे पहुचता है, कैसे किसी को कभी कम स्पीड मिलती है तो किसी को ज्यादा और यार
ये इन्टरनेट बनाया किसने और आखिर इसका मलिक कौन है ?

मैंने पूरी detail में बताया हा की इन्टरनेट किसने बनाया आप पढ़ सकते है , इन्टरनेट कैसे और किसने बनाया

Server क्या है ? और कैसे काम करता है ?

इन्टरनेट क्या है

इन्टरनेट बहुत सारे कंप्यूटर से जुड़ा हुआ एक बहुत बड़ा जाल है जो राऊटर और सर्वर के माध्यम से दुनिया
के किसी भी कंप्यूटर को जोड़ता है, अगर दुसरे शब्दों में कहा जाए तो सूचनाओ के आदान प्रदान के लिए
TCP/IP Protocol के माध्यम से दो कंप्यूटर के बिच बना सम्बन्ध ही इन्टरनेट कहलाता है.

इन्टरनेट एक Short Name है INTERNETwork का जिसका फुल फॉर्म ”interconnected network” होता है. इन्टरनेट लाखो करोड़े स्कूल, कॉलेज, organization
और डेटा को प्राइवेट और सुरक्षित रखने के काम में आता है. internet सन 1960 में बना था इसको पहले
US Military के लिए बनाया गया था वो लोग अपने कंप्यूटर को हार्ड केबल के द्वारा जोड़ते थे और इनफार्मेशन
को एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर तक इन्टरनेट की मदद से पहुचाते थे. फिर इसको पर्यावरण को सुरक्षित रखने के
लिए डिज़ाइन किया गया, लेकिन फिर बाद में उस इन्टरनेट को सबके लिए पब्लिक कर दिया गया और आज इन्टरनेट
चलाने वालो की संख्या करोडो में है.इन्टरनेट का मुख्य काम जो दुनिया में करोडो वेबसाइट है उनका डेटा हम तक
पहुचाना होता है, किसी को ईमेल भेजना होता है. और भी बहुत सारे काम होते है.

Cloud Computing क्या होती है ? और कैसे काम करती है ?

नेटवर्क क्या होता है ?

इन्टरनेट कैसे काम करता है इसके पहले आपको ये समझना होगा की नेटवर्क क्या होता है. 2 या 2 से
अधिक कंप्यूटर जब आपस में जुड़कर कोई भी Information को share करते है तो हम उसे नेटवर्क कहते है. वह
information कुछ भी हो सकती है जैसे (jpg, mp3, txt, etc). किसी भी कंप्यूटर का नेटवर्क से जुड़ने का मतलब
होता है वो किसी cable, telephone line, radio waves या satellites से जुड़ना. अगर कोई भी कंप्यूटर इन में से
किसी भी चीज से जुड़े है तो इसका मतलब है वह नेटवर्क से जुड़े है.

इन्टरनेट कैसे काम करता है ?

दुनिया में 99% से ज्यादा इन्टरनेट wire के द्वारा चलता है, इन wire का नाम Optical Fiber Cable होता है,
ये cable समुन्द्र के हजारो फीट अंदर बिछाई जाती है ताकि बड़े बड़े जहाज़ आते है उससे खतरा कम हो
और जो कंपनी ये cable बिछाती है उन्हें हम Tier 1 कंपनी कहते है. ये cable इतनी मजबूत होती है
की बड़े से बड़ा तूफान झेल लेती है इनके अंदर हमारे बाल के बराबर wire होती है इन हर wire
के अंदर 100 GBps की स्पीड होती है. फिर इन cable को आपके शहर तक उसके बाद आपके नजदीकी इलाके
के टावर तक ले कर आना पड़ता है, india में एक ही कंपनी है जो ये काम करती है “Tata Communication”(INDIA Teleglobe).
दुनिया में कहाँ कहाँ cable बिछी है आप इस Submarine Cable Map वेबसाइट पर जा कर देख सकते हो. अब
जानते है इन्टरनेट कैसे काम करता है.

क्या आपने कभी ये सोचा की जब आप कुछ सर्च करते हो तो उसके बाद क्या प्रोसेस होती है और
कैसे आप तक वह डेटा पहुच जाता है.जब हम वेब ब्राउज़र पर कुछ सर्च करते है तो सबसे पहले वो
request जाती है Internet Service Provider(ISP) तक, india में isp कंपनी(Jio, Airtel, idea, vodaphone) है. इसके बाद isp इस request
को Domain Name System(DNS) को भेजती है DNS वह library है जिसमे सभी वेबसाइट के ip address स्टोर होते है.

इसके बाद DNS उस वेबसाइट का ip address देता है isp को, फिर isp वो ip address देता है हमारे
वेब ब्राउज़र को और फिर इसके बाद यह request जाती है गूगल सर्वर तक इसके बाद गूगल HTML, CSS, javaScript
डेटा है उस वेबसाइट का और फिर हमें वह वेबसाइट हमारे ब्राउज़र में दिखने लगती है.

इन्टरनेट का मालिक कौन है ?

दोस्तों क्या आपने कभी ये सोचा की इस इन्टरनेट को चलाता कौन है क्या Jio, Airtel, Idea जैसे कंपनी चलाती है,
चलाती है कुछ हद तक लेकिन ये पूरा सच नही है क्यूंकि एक बंद होगी तो दूसरी कंपनी भी है.
तो फिर क्या हमारी सरकार इसे चलाती है मैं आपको बता दू की सरकार सिर्फ कुछ फेसबुक पोस्ट हटवा
सकती है कुछ वेबसाइट बंद करवा सकती है लेकिन इससे पूरे दुनिया के इन्टरनेट पर कुछ खाश असर नही पड़ने
वाला. तो फिर क्या गूगल फेसबुक जैसी कंपनी चलाती है क्यूंकि आज के टाइम पर इनके पास सबसे ज्यादा डेटा है
लेकिन ये भी सच नही है.

अगर आपको अपनी वेबसाइट बनानी है तो आपको एक Domain Name खरीदना होता है. अब india में बहुत से कम्पनी है
जो ये काम करती है जैसे “Godaddy”, तो सवाल ये है की Godaddy को किसने हक़ दिया Domain Name बेचने
के लिए और क्या ये पूरे इन्टरनेट को चलाती है ऐसा नही है, इसके ऊपर एक Authority है जिसका नाम है
Internet Corporation for assigned Names And Numbers(ICANN) ये एक non profitable Authority है जो Los Angeles में स्थित है.

ICANN ही परमिशन डेटा है की कौन Domain Name बेच सकता है और यही decide करती है की (.in, .com, .gov)
इनमे से क्या होगा. तो क्या ICANN ही पूरे इन्टरनेट का भगवान है. ऐसा बिलकुल नही है क्यूंकि इन्टरनेट किसी
का नही है लेकिन सबका है. तो जबाब ये है की इन्टरनेट के मलिक हम सब है जो भी इसे
चलाता है वह इसका मालिक है.

Conclusion

तो अब आपको बहुत अच्छे से समझ आ गया होगा की internet क्या है, और internet कैसे काम करता है.
मैं आपको बता दू की ICANN ही सबसे बड़ी Authority है इन्टरनेट पर लेकिन ये इन्टरनेट की मलिक नही है.
जो भी कंपनी Domain Name देती है ये बस उनको टॉप लेवल Domain बेचती है. मुझे उम्मीद है अब आपको
समझ आ गया होगा की इन्टरनेट का मालिक कौन है? इसके अंदर भी बहुत से points होते है लेकिन मैंने
आपको बहुत सिंपल तरीके से समझाने की कोशिश की है.

अगर आपके मन में इसको लेकर कोई सवाल है तो आप कमेंट्स कर सकते है, अगर आपको पोस्ट पसंद आई है
और कुछ नया सिखने को मिला है तो इसको अपने friends को भी share कीजिये. और अंत में यही कहना
चाहूँगा की पूरी पोस्ट पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद्…

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)

Leave a Comment