RIP Full Form In Hindi | RIP kya hai?

आज की पोस्ट में आपको पता चलेगा कि RIP Full Form In Hindi | RIP kya hai?
और साथ ही यह भी जानेंगे की RIP शब्द कहां से आया और आपको यह शब्द कहां कहां इस्तेमाल करना चाहिए।

दोस्तों इंटरनेट आने से न केवल हमारी जिंदगी आसान हुई है वल्कि हमारी भाषा और बोली पर भी
इसका प्रभाव पड़ा हैं इसका सबसे अच्छा उदाहरण ये हैं की आज कल हम किसी की मृत्यु होने पर RIP लिखते हैं।

ताकि उस व्यक्ति से हम अपना दुख दिखा सके, ज्यादातर लोगों को RIP Full Form In Hindi
| RIP kya hai
? यह पता नहीं होता हैं और कहां इस्तेमाल करना चाहिए इसकी जानकारी भी नहीं होती।

RIP शब्द लैटिन भाषा से लिया गया हैं जिसे हम किसी की मृत्यु होने पर अपना शोक या दुख प्रकट
करते हुए बोलते हैं, यह शब्द क्रिश्चियन अक्सर बोला करते हैं।

RIP Full Form In Hindi

दोस्तों RIP का फुल फॉर्म “Rest in Peace” होता हैं जिसका अर्थ होता हैं की उपर वाला व्यक्ति की आत्मा को शांति दे।

इस शब्द का प्रयोग हम किसी की मौत होने पर दुख प्रकट और उसके प्रति संवेदना तथा उपर वाला उस व्यक्ति की आत्मा को शांति दे यह कहने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं।

RIP kya hai?

RIP शब्द किसी की मौत होने पर उसकी आत्मा को शांति दे यह कहने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं यह शब्द लैटिन भाषा से लिया गया हैं।

इस RIP शब्द किसी की मौत होने पर उसकी आत्मा को शांति दे यह कहने के लिए इस्तेमाल
किया जाता हैं यह शब्द लैटिन भाषा से लिया गया हैं।

हालांकि इस शब्द का प्रयोग ज्यादातर क्रिश्चियन समाज करता था लेकिन इंटरनेट पर लगभग हर
जगह इस शब्द का प्रयोग आम हो गया हैं,

तथा मरे हुए व्यक्ति के लिए संवेदना प्रकट करने के लिए इस शब्द को इस्तेमाल किया जाता है।

RIP जिसका मतलब आज “Rest in Peace” हैं सातवी सातब्दी में इस शब्द का फुल फॉर्म
“Requiescunt In Pace” था।

RIP शब्द का इतिहास?

दोस्तों इस शब्द को पहली बार पांचवी शताब्दी से कुछ समय पहले एक मकबरे के पत्थरों पर लिखा पाया गया था जिसके बाद 17वी शताब्दी तक ईसाइयों ने भी इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।

जिसका अर्थ था की “उनकी आत्मा को बाद के जीवन के लिए शांति मिलनी चाहिए” ईसाइयों का मानना हैं की मृत्यु के बाद आत्मा शरीर से अलग हो जाती हैं इसलिए आत्मा को शांति मिलनी चाहिए।

इस शब्द को अलग अलग धर्मों ने अपने हिसाब से प्रचार किया हैं कईयों का मानना हैं की इस शब्द
से आत्मा की शांति के लिए सही प्राथना नहीं होती।

1. Irish Protestantism

सन 2017 में उत्तरी आयरलैंड में ऑरेंज ऑर्डर के सदस्यों ने एक प्रोटेस्ट किया जिसमे RIP (REST IN PEACE) इस शब्द को बंद करने को कहा।

इवेंजेलिकल प्रोटेस्टेंट सोसायटी के सचिव वालेस थॉमसन ने इस अपने BBC के इंटरव्यू में कहां की
वो इस प्रोटेस्ट का समर्थन करते हैं और RIP शब्द का प्रयोग भी बंद होना चाहिए।

थॉमसन ने यह भी बताया की RIP शब्द बाइबल सिद्धांत के विपरीत हैं इसलिए उन्होंने कहां की इस
शब्द को रोकना चाहिए।

2. Judaism

इस शब्द पर यहूदियों ने भी आपत्ति जताई थी और कहां था की यह यहूदी अभ्यास के अनुरूप हैं इसलिए इसका इस्तेमाल करने से रोकना चाहिए।

लेकिन आज के समय में लगभग हर वर्ग और सभी धर्मो में इस शब्द का प्रयोग आम तौर पर होने
लगा हैं और इंटरनेट पर तो ज्यादातर यही शब्द सुनने को मिलता हैं।

समय के साथ साथ कई धर्मो ने इस शब्द पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठाई थी और उनका कहना
था की यह हमारे धर्म का उलंघन करता हैं।

RIP शब्द कौन इस्तेमाल करता हैं?

RIP Full Form In Hindi | RIP kya hai? अब इसके बाद आपको जानना चाहिए की यह शब्द ज्यादातर कौन इस्तेमाल करता हैं।

दोस्तों RIP शब्द कोई भी इस्तेमाल कर सकता हैं अगर आपने किसी अपने को खो दिया हैं या आपको किसी के जाने से बहुत दुख हो रहा हैं तो हम अक्सर बोलते हैं की उपर वाला उसकी आत्मा को शांति दे।

इसी बात को पूरी करने के लिए आप शॉर्ट में RIP बोल सकते हों जिसका अर्थ भी यही होता हैं उपर वाला उस व्यक्त की आत्मा को शांति प्रदान करें।

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट जिसका नाम RIP Full Form In Hindi | RIP kya hai? था हमने आपको RIP के बारे में लगभग सब बता दिया हैं।

उम्मीद हैं आपको इस पोस्ट से कुछ नया सीखने को जरूर मिला होगा, आज के समय में जहां इंटरनेट मौजूद हो वहा बहुत जल्दी हम अपनी बातों को दुनिया तक पहुंचा देते हैं।

यही इस शब्द के साथ हुआ इंटरनेट आने के कारण ज्यादातर लोगों ने इसे बोलना शुरू कर दिया
जिसकी वजह से इस शब्द को इस्तेमाल करना कॉमन हो गया।

अगर आपको इस पोस्ट से जुड़े कोई सवाल हैं सुझाव हैं तो आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हमे बता
सकते हैं,अंत तक इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)

Sharing Is Love:

Leave a Comment