CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai?

दोस्तों क्या आपको पता है की CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai? अगर नहीं पता तो बने रहे इस आर्टिकल के साथ।

जैसे जैसे दुनिया विज्ञान में आगे खोज करती जा रही है मानव सभ्यता के लिए मुश्किलें पैदा होती जा
रही है, दुनिया के ऐसे कई देश है जिनके पास ऐसे हथियार है जिससे पूरी दुनिया महज कुछ घंटो में
खत्म हो सकती हैं।

यह डर इसलिए भी बढ़ जाता है क्योंकि यहां नॉर्थ कोरिया जैसे देश हैं जिनके नेता पागलपन की हद
तक जा सकते है, इसलिए CTBT क्या है आपको आज जरूर जानना चाहिए।

CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai इसकी पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में जानने को मिलेगा।

CTBT Full Form In Hindi

इस CTBT का फुल फॉर्म “Comprehensive Nuclear Test Ban Treaty” होता हैं जिसका मतलब हैं की “Nuclear Test करने या nuclear weapons बनाने से रोकना।

CTBT क्या है?

CTBT एक असेंबली हैं जो मिलिट्री और सिविलियन को नए न्यूक्लियर हथियार को बनाने तथा उनको मोडिफाइड करने से रोकता हैं।

यह इसलिए क्योंकि न्यूक्लियर हथियार एक देश नहीं बल्कि पूरी मानव सभ्यता के लिए खतरनाक हैं इसमें 182 से भी ज्यादा देश समर्थन करते हैं।

CTBT एक बहुपक्षीय समझौता है जो परमाणु परीक्षण विस्फोट तथा अन्य हथियारों के परीक्षण को प्रतिबंधित करता हैं।

इस प्रस्ताव को यूनाइटेड नेशन की जनरल एसेबली द्वारा पारित किया गया था और 24 सितंबर सन
1996 में एक हस्ताक्षर के लिए इसे जारी किया गया था।

FAO Full Form In Hindi | FAO ka full form?

2016 आते आते 180 देशों ने इस पर हस्ताक्षर किए जिसमे टोबैगो और त्रिनिदाद आखिरी में
हस्ताक्षर करने वाले देश बने।

Importance of CTBT

यह CTBT की वजह से बहुत से देश अब न्यूक्लियर हथियार का परिक्षण नहीं कर पाते है और न ही हथियारों के किसी प्रकार का मोडीफाई कर पाते हैं।

1. यह समझौता न्यूक्लियर हथियार बनाने और उसका टेस्ट करने में रुकावट पैदा करता हैं।

2. किसी भी नए न्यूक्लियर हथियार या पहले से बने हुए हथियारों को मोडीफाई करने में भी यह समझौता रुकावट पैदा करता हैं।

3. यह समझौता कानूनी कार्रवाई भी कर सकता है ऐसे देश के खिलाफ जो छुप कर न्यूक्लियर टेस्ट करता हैं।

4. यह समझौता मानव सभ्यता को न्यूक्लियर हथियार के बहुत बड़े खतरे से भी बचाने का काम करता हैं।

न्यूक्लियर टेस्ट का इतिहास

CTBT आने से पहले सन 1945 से 1996 तक लगभग 2000 से भी ज्यादा न्यूक्लियर परीक्षण किए गए।

1. यूनाइटेड स्टेट्स ने अकेले 1000 से भी ज्यादा न्यूक्लियर परीक्षण किए थे।

2. इसके बाद सोवियत यूनियन ने लगभग 700 से ज्यादा न्यूक्लियर परीक्षण किए।

3. फ्रांस ने भी 200 से ज्यादा परीक्षण किए।

4. इसके बाद यूनाइटेड किंगडम और चीन ने 45 न्यूक्लियर टेस्ट किए और यह सभी परीक्षण से यही साबित हुआ हैं की आने वाले कुछ सालो में यह मानव सभ्यता को हमेशा के लिए मिटा देंगे।

सन 1996 के बाद तीन देशों ने न्यूक्लियर परीक्षण किया जिसमे इंडिया और पाकिस्तान ने 1998 में और नॉर्थ कोरिया ने 2006 और 2009 में न्यूक्लियर परीक्षण किया।

CTBT समझौते को पूरी तरह से लागू नहीं कर पाए क्योंकि अब तक 44 देशों ने इस पर हस्ताक्षर नहीं किया था, लेकिन कुछ समय बाद 44 में से 35 देशों ने हस्ताक्षर कर दिया और इसका हिस्सा बन गए।

लेकिन 9 देशों ने अब तक इसमें हस्ताक्षर नहीं किए थे वो हैं India, Iran, Israel, Pakistan, china, Egypt, Indonesia, United States और north Korea।

इसके कुछ सालों बाद 9 में से 6 देशों ने भी हस्ताक्षर कर दिए और अब बचे हैं India, Pakistan और North Korea इन 3 देशों ने अब तक इस समझौते पर दस्तखत नहीं किए हैं।

इसी वजह से आपने देखा होगा की सन 1998 में किए गए पोखरण परमाणु परीक्षण को बहुत ही
छिप कर किया गया था क्योंकि उस वक्त सभी देशों पर नजर रखी जाती थी ताकि कोई परमाणु परीक्षण न करें।

Ratifying और Signing CTBT में क्या अंतर हैं?

1. Signing CTBT

• जब कोई देश इस समझौते पर हस्ताक्षर करता है इसका मतलब अब उस समझौते के खिलाफ कदम नहीं उठाएगा।
• यह हस्ताक्षर उस देश के प्रधान मंत्री, या राष्ट्रपति करते है।

2. Ratifying CTBT

• जब कोई देश किसी समझौते को ratify (रेटिफाई) करता हैं तो इसका मतलब होता हैं उस देश ने किसी समझौते को पूरी तरह से स्वीकार कर लिया हैं। तथा यह उस देश का कानून भी बन जाता हैं।
• किसी भी समझौते को रेटिफाई करने का मतलब हैं की उसे पार्लिमेंट में पेश करना होगा तथा पास होने के बाद वह कानून बन जाता हैं जिसके विरुद्ध कोई नहीं जा सकता हैं।

CTBT से जुड़े कुछ FAQ

CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai इसके बाद अब आपको कुछ महत्वपूर्ण FAQ
के बारे में बताते हैं।

1. क्या इंडिया ने CTBT पर हस्ताक्षर किया है?

भारत ने अभी तक CTBT समझौते पर दस्तखत नहीं किए है हालांकि इस पर कई बार चर्चा हुई है तथा साइन करने पर भी जोर दिया जाता रहा हैं।

2. सबसे पहले CTBT पर किस देश ने साइन किया था?

CTBT समझौते पर सबसे पहले Fiji देश ने 10 अक्टूबर सन 1996 में ही साइन कर दिया था।

3. CTBT को क्यों बनाया गया?

CTBT किसी भी देश के लिए एक सबसे बड़ी रुकावट है अगर उन्हें परमाणु परीक्षण या किसी परमाणु
हथियार को सही करना हो, ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि दुनिया में बहुत ज्यादा परमाणु हथियार न बने और मानव सभ्यता सुरक्षित
रहे।

4. पाकिस्तान ने CTBT पर साइन कब किया?

CTBT समझौते पर पाकिस्तान और इंडिया ने अब तक साइन नहीं किया हैं।

5. CTBT का क्या मतलब है?

इसका मतलब हैं “Comprehensive Nuclear Test Ban Treaty” जिसका यही काम हैं की परमाणु परीक्षण को रोकना
तथा ज्यादा से ज्यादा इस काम को बंद करना।

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको बताया की CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai इसके बारे में ज्यादातर स्टूडेंट नहीं जानते हैं।

यह टॉपिक बहुत जरूरी है और यह कॉम्पेटिटिव एग्जाम में भी कई बार पूछा गया है इसलिए आपको
इस पोस्ट को CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai बहुत ध्यान से पढ़ना चाहिए।

Hello friends, I am "Rahul" Author & Founder of TechySeizer.in. If I Talking about my education I am in BSC 3rd year. I love knowing things related to technology and teaching others. Just keep supporting our content, we will keep giving you new information :)

Sharing Is Love:

1 thought on “CTBT Full Form In Hindi | CTBT kya hai?”

Leave a Comment