हिंदी जगत में फिल्म पुष्पा ने 80 करोड़ से भी ज्यादा कमा लिए हैं इसलिए फिल्म निर्माता मनीष शाह ने अल्लू अर्जुन की एक और धमाकेदार फिल्म को हिंदी के रिलीज करने का फैसला किया हैं।

मनीष शाह का कहना हैं की "हिंदी सिनेमा में गालियों और बोल्ड सीन्स की भरमार हैं" जिसे परिवार के साथ बैठकर नहीं देख सकते हैं।

लेकिन दक्षिण भारत की फिल्में पूरे परिवार के साथ ही देखी जाती हैं इसलिए वो इस साल दक्षिण भारत की 10 सबसे बड़ी फिल्मों को हिंदी में रिलीज करेंगे।

अल्लू अर्जुन की फिल्म "अला वैकुंठपुरमुलू" अब 26 जनवरी को हिंदी भाषा में रिलीज होने जा रही हैं, इसके लिए फैंस काफ़ी लंबे समय से इंतजार कर रहे थे।

मनीष शाह आगे कहते हैं की जब भी वो परिवार के साथ फिल्म देखते हैं तो उसमे गालियां और बोल्ड सीन्स होते हैं जिसकी वजह से चैनल बदलना पड़ता हैं।

इसलिए हिंदी दर्शक अब साउथ की फिल्मों को देखना ज्यादा पसंद करते हैं।

मनीष शाह आगे कहते हैं की वो किसी भी फिल्म को डब करने से पहले खुद देखते हैं इसके बाद ही अपनी टीम के साथ इसकी स्क्रिप्ट लिखते हैं।

मनीष शाह ने कहा की दक्षिण भारत के एक्टर्स अब हिंदी जगत में अपना नाम बना रहे हैं लेकिन हिंदी फिल्मों के एक्टर्स को ज्यादातर दक्षिण भारत में कोई नहीं जानता।

बाहुबली जैसी फिल्में 500 करोड़ कमा ले जाती हैं लेकिन हिंदी भाषा की फिल्मे कभी इतना बड़ा कारोबार नहीं कर पाती हैं क्योंकि उनको फैमिली के साथ देखना मुश्किल होता हैं।

आगे कहते हैं की दक्षिण भारत में लोग एक्टर्स को भगवान की तरह पूजते हैं लेकिन बॉलीवुड में एक्ट्रेसेस को बोल्ड सीन्स दिखाने से ही फुर्सत नहीं मिलती।